मंगलवार, 11 अक्तूबर 2011

जाने वो कौन सा देश .....जहाँ तुम चले गए |


एक महान ग़ज़ल गायक , ग़ज़ल को आम आदमी तक
पहुँचाने वाले विख्यात शख्शियत जनाब जगजीत सिंह साहब
पूरे देश को ग़मज़दा कर गए उनकायूँ आकस्मिक निधन दिल की धडकने रोक देता है
मन विश्वास करने को राजी नहीं होता मगर ये सच है कि अब वे हमारे बीच नहीं है
पूरा देश उनकी आवाज़ से महरूम होगया |
कल जब हमारे बड़े भइया माननीय श्री पवन जी का मेसेज आया तो अचानक दिल में
एसा लगा जैसे दिल कुछ देर के लिए धड़कना बंद हो गया हो सांसें रुक गयी है |
सही मायने में जगजीत सिंह साहब ने ग़ज़ल को सरल मधुर और आम इन्सान कि जुबान
पर ला दिया और ग़ज़ल गायकी के सम्राट बन गए कितने ही गजल करों को प्रतिष्ठा दिलाने में
पूर्ण योगदान है एसी सुरमई आवाज और गजल गायकी को नए अयं देने के लिए ये देश हमेशा
उनका ऋणी रहेगा .....|
ऐसे महान कलाकार को भावभीनी दिली श्रधांजलि |

4 टिप्‍पणियां:

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

मन तो अब पता नहीं कितने दिन उदास ही रहेगा.. नमन.

सुरेन्द्र "मुल्हिद" ने कहा…

sach kaha aapne, dil toot sa gaya hai jaggu ji ke jaane par...

दिगम्बर नासवा ने कहा…

एक युग की समाप्ति हुयी है उनके जाने के साथ ... श्रधांजलि है ...

Babli ने कहा…

ग़ज़ल सम्राट जगजीत सिंह जी को विनम्र श्रद्धांजलि !

खोजें